नवरात्रि के 9 दिन का भोग List 2023 – Navratri Me Kis Din Kya Bhog Lagaye

क्या आप जानते है की नवरात्रि में माता जी को कौन से भोग लगाते है। अगर नही, तो चिंता ना करे इस लेख में हम आपको नवरात्रि के 9 दिन का भोग list के बारे में सब कुछ बताने वाले है। 

navratri me kis din kya bhog lagaye

व इसके साथ साथ हम आपको नवरात्रि के शुभ रंगों के बारे में भी बताने वाले है। वो भी नवरात्रि के 9 दिनों के अनुसार। और हां इस साल पड़ने वाली शरद नवरात्रि कब से है वो भी ताकि आपको आसानी से पता चल सकते की navratri kab se shuru hai aur kab khatm hai

तो चलिए बिना किसी देरी के जानते है कि navratri me kis din kya bhog lagaye

नवरात्रि के 9 दिन का भोग list

यहां पर हम आपको नवरात्रि के नौ के दिनों में माता जी को चढ़ाए जाने वाले भोग के बारे में बताने वाले है। हम सभी जानते है की नवरात्रि नौ दिनों का होता है। और इन नौ दिनों में हर दिन अलग-अलग माता जी की पूजा आराधना की जाती है। और उन्हें अलग-अलग भोग लगाया जाता है। 

तो चलिए जानते है की आप किसी दिन कौन सा प्रसाद या भोग चढ़ा कर माता जी को खुश कर सकते है। और आपको भोग लगाने पर क्या लाभ मिल सकता है।

नीचे हमने नवरात्रि में माता का भोग के बारे में सब कुछ बताने की कोशिश की है। जो कुछ इस प्रकार से है। –

🪔 प्रथम दिन 🪔

नवरात्रि का पहला दिन माँ शैलपुत्री जी का होता है। इस दिन माँ को देशी घी के बने भोग लगाने चाहिए। जैसे की देशी घी के लड्डू या मिठाई आदि। ऐसा करने पर आप आप स्वस्थ रहते है।

🪔 दूसरा दिन 🪔

ये माँ ब्रह्मचारिणी का दिन होता है। इस दिन आप माँ को शक्कर और फल का भोग चढ़ा सकते है। जिससे आपके परिवार के सभी सदस्यों को आयु बढ़ जाती है 

🪔 तीसरा दिन 🪔

ये माँ चंद्रघटा का दिन होता है। इस दिन आप माँ को दूध, मिठाई और खीर का भोग चढ़ा कर ब्राह्मणों को दान देना शुभ होता है। जिससे आप संसारी दुखों से मुक्त हो जाते है।

🪔 चौथा दिन 🪔

ये माँ कुष्मांडा का दिन होता है। इस दिन आप माँ को मालपुए या दही का भोग लगा कर इस भोग को मंदिरों के ब्राह्मणों को भी देना चाहिए। जिससे आपकी बुद्धि का विकास और निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है।

🪔 पांचवा दिन 🪔

ये माँ स्कंदमाता का दिन होता है। इस दिन आप माँ को केला, सौंफ और पेड़ा का भोग लगा सकते है। जिससे आपको अच्छी सेहत और निरोग काया की प्राप्ति होती है।

🪔 छठा दिन 🪔

ये माँ कात्यायनी का दिन होता है। इस दिन आप माँ को शहद, लड्डू, और दही का भोग लगा सकते है। जिससे आपके आकर्षण शक्ति में वृद्धि होती है।

🪔 सातवां दिन 🪔

ये माँ कालरात्रि का दिन होता है। इस दिन आप माँ को गुड़, पेड़ा, और दही का भोग लगा सकते है। जिससे आपको शोक से मुक्ति और अचानक आने वाले संकटों से रक्षा होती है।

🪔 आठवां दिन 🪔

ये माँ महागौरी का दिन होता है। इस दिन आप माँ को नारियल, और पेड़ा का भोग लगा सकते है। जिससे आप पर माँ की कृपा बनी रहती है। और संतान से जुड़े सभी परेशानियों से आजादी मिलती है।

🪔 नौवां दिन 🪔

ये माँ सिद्धिदात्री का दिन होता है। इस दिन आप माँ को तिल और सफेद लड्डू का भोग लगा सकते है। लाभ की बात करे तो आपके साथ होने वाली अनहोनी घटना से बचाव होता है और मृत्यु भय से राहत मिलती है।

माँ के अलग-अलग रूपों के लिए अलग-अलग भोग की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है 

दिन माँ के रूप माँ को लगाने वाले भोग 
पहला दिन माँ शैलपुत्री जीदेशी घी के बने भोग
दूसरा दिन माँ ब्रह्मचारिणीशक्कर और फल का भोग
तीसरा दिन माँ चंद्रघटादूध, मिठाई और खीर का भोग
चौथा दिन माँ कुष्मांडामालपुए या दही का भोग
पांचवा दिन माँ स्कंदमाताकेला, सौंफ और पेड़ा का भोग
छठा दिन माँ कात्यायनीशहद, लड्डू, और दही का भोग
सातवां दिन माँ कालरात्रिगुड़, पेड़ा, और दही का भोग
आठवां दिनमाँ महागौरीनारियल, और पेड़ा का भोग
नौवां दिन माँ सिद्धिदात्रीतिल और सफेद लड्डू का भोग 

माता के भोग का भजन

आप माता जी को भोग लगाते समय इन मंत्रों का जाप कर सकते है। जिसे, नवरात्रि के 9 दिन के मंत्र के नाम से भी जाना जाता है। जो कुछ इस प्रकार से है।

🕉️ माता जी को भोग लगाते समय का मंत्र 🕉️

त्वदीयं वस्तु गोविन्द तुभ्यमेव समर्पये । 
गृहाण सम्मुखो भूत्वा प्रसीद परमेश्वर ।। 

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके। 
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते।। 

ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। 
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

नवरात्रि के 9 दिन के कलर

नीचे हमने नवरात्रि के नौ रंगों के बारे में बताया है। इन रंगों के वस्त्र भक्तगण अलग-अलग दिन पहनते है। जिससे माँ दुर्गा के सभी 9 रूपों की कृपा और आशीर्वाद बनी रहती है।

तो चलिए देखते है की नवरात्रि के 9 दिन किस रंग के कपड़े पहने। 

दिनशुभ रंग रंग
पहला दिन नारंगी और सफेद🟠, ⚪
दूसरा दिन सफेद और सिल्वर
तीसरा दिन लाल रंग🔴
चौथा दिन नीला और बैंगनी🔵, 🟣
पांचवा दिन पीला या सुनहरा🟡
छठा दिन गुलाबी🌸
सातवां दिन स्लेटी और कत्थई🐘, 
आठवां दिनसफेद और बैंगनी ⚪, 🟣
नौवां दिन हरा रंग🟢

Navratri Kab Se Shuru Hai

इस साल शरद नवरात्रि 15 अक्टूबर से शुरू हो रही है। अगर हम आपको इसे हिंदू पंचांग के अनुसार बताए तो वो कुछ इस प्रकार से होगी। इस साल “शरद नवरात्रि अश्विनी मास के प्रतिपदा तिथि” से शुरू हो रहा है। इस दिन “रविवार” और “शुक्ल पक्ष” है।

नवरात्रि तारीख तिथि वार पक्ष 
पहला दिन 15-10-2023प्रथम  रविवारशुक्ल पक्ष
दूसरा दिन 16-10-2023द्वितीय सोमवारशुक्ल पक्ष
तीसरा दिन 17-10-2023तृतीयमंगलवारशुक्ल पक्ष
चौथा दिन 18-10-2023चतुर्थी बुधवारशुक्ल पक्ष
पांचवा दिन 19-10-2023पंचमी गुरुवारशुक्ल पक्ष
छठां दिन 20-10-2023षष्ठी शुक्रवारशुक्ल पक्ष
सातवां दिन 21-10-2023सप्तमी शनिवारशुक्ल पक्ष
आठवां दिन22-10-2023अष्टमी रविवारशुक्ल पक्ष
नौवां दिन 23-10-2023नवमीसोमवारशुक्ल पक्ष

Qna – नवरात्रि से जुड़े कुछ प्रश्न

  1. नवरात्रि कब से शुरू है ?

    15 अक्टूबर से नवरात्रि शुरू हो रही है। 

  2. नवरात्री कब ख़तम है ?

    23 अक्टूबर को नवरात्रि समाप्त हो रही है। 

  3. अक्टूबर में पड़ने वाली नवरात्रि को क्या कहते है ?

    अक्टूबर में पड़ने वाली नवरात्रि को शरद नवरात्रि भी कहा जाता है। 

निष्कर्ष 

उम्मीद करते है की इस लेख को पढ़कर आप आसानी से जान गए होंगे की नवरात्रि के 9 दिन का भोग list क्या है, navratri me kis din kya bhog lagaye आदि।

व अब आप जान गए होंगे की माँ दुर्गा का भोग क्या-क्या है

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो इसे शेयर करना ना भूले। चलिए आपसे फिर मिलते है। किसी और लेख में तब तक के लिए जय माता दी।

Leave a comment